Sunday, 4 May 2014

नजरअंदाज

कभी उसको नजरअंदाज न करो
जो तुम्हारी बहुत परवाह करता हो
वरना किसी दिन तुम्हें एहसास होगा
के पत्थर जमा करते करते तुमने हीरा गवा दिया

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.