Wednesday, 17 April 2013

बेवफा की शायरी


हर एक मुस्कुराहट मुस्कान नहीं होती;
नफरत हो या मोहब्बत आसान नहीं होती;
आंसू गम के और ख़ुशी के एक जैसे होते हैं;
इनकी पहचान आसान नहीं होती!

दर्द भरी प्यार की कहानी


यह आरजू नहीं कि किसी को भुलाएं हम;
न तमन्ना है कि किसी को रुलाएं हम;
जिसको जितना याद करते हैं;
उसे भी उतना याद आयें हम!

शराबी की शायरी

लोग कहते हैं पिये बैठा हूँ मैं;
खुद को मदहोश किये बैठा हूँ मैं;
जान बाकी है वो भी ले लीजिये;
दिल तो पहले ही दिये बैठा हूँ मैं।