Wednesday, 17 April 2013

बेवफा की शायरी


हर एक मुस्कुराहट मुस्कान नहीं होती;
नफरत हो या मोहब्बत आसान नहीं होती;
आंसू गम के और ख़ुशी के एक जैसे होते हैं;
इनकी पहचान आसान नहीं होती!

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.